Tuesday, October 1, 2013

ਯਾਦਾਂ ਵਿਛੜੇ ਸਜਣ ਦੀਆਂ ਆਈਆਂ//ਨੁਸਰਤ ਫਤਿਹ ਅਲੀ ਖਾਂ

गुज़रे हुए वक्त को लौटा लाने वाली एक शानदार प्रस्तुती
नहीं रही पंजाब 
स्क्रीन की सक्रिय संचालिका 
कल्याण कौर  
जनाब नुसरत फतिह अली खान की एक और लाजवाब प्रस्तुती जो आपके सामने अतीत को फिर से ला कर दिखा देगी--उस गुज़रे हुए वक्त को जो कभी लौट कर आता---यह करिश्मा है इस में--चाहे कुछ ही पलों  होगा--! यह गीत भी समर्पित है पंजाब स्क्रीन ब्लॉग टीवी की उस सक्रिय संचालिका को जो अब इस दुनिया में नहीं लेकिन हमारे ख्यालों में आज भी जिंदा है-रेक्टर कथूरिया

No comments:

Post a Comment