Monday, December 16, 2013

लुधियाना में रही रथ यात्रा की गूँज

15 दिसंबर 2013 को लुधियाना के लोग एक बार फिर सड़कों पर आँखें बिछाए बैठे थे। इंतज़ार थी तो बस उन्हें अपने भगवान की। भगवान जगननाथ की।  किसी ने  रथ के इंतज़ार में अपना आंचल फैलाया हुआ था और किसी ने सड़क पर ही घुटने टेक रखे थे तांकि भगवान  कबूल कर लें। यह तस्वीर रथ गुज़रने के दो-तीन  बाद  झाँसी रोड पर ली गयी। आँखों में आंसू और दिल में उम्मीद---यही था  उस दिन का नज़ारा। --रेकटर कथूरिया (पंजाब स्क्रीन) 

No comments:

Post a Comment